The Amazing Facts

, / 284 0

जाट आंदोलन के दौरान हिंसा, कोताही बरतने की गाज अफसरों पर

SHARE

                                                         Jat Reservation News

kishan5हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान भड़की हिंसा और उपद्रव से निपटने में कोताही बरतने वाले अफसरों पर प्रदेश सरकार ने कार्रवाई शुरू कर दी है। वीरवार को इस मामले में पहली गाज रोहतक रेंज के आईजी रहे श्रीकांत जाघव और इसी जिले में तैनात डीएसपी अमित दहिया और अमित भाटिया पर गिरी।प्रदेश सरकार ने तीनों को निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही, विभिन्न एचसीएस अफसरों का तबादला करते हुए सरकार ने कैथल में आरक्षण की वकालत करने वाली एसडीएम मनदीप कौर का भी तबादला तो कर दिया, लेकिन उन्हें कोई अन्य पद न सौंपते हुए प्रतीक्षा सूची में डाल दिया है।प्रदेश सरकार ने अफसरों पर कार्रवाई ऐसे समय में की है, जब एक दिन पहले ही सरकार ने अफसरों की लापरवाही की जांच करने केलिए पूर्व डीजीपी प्रकाश सिंह को नियुक्त किया था।

वीरवार को सरकार के फैसलों से साफ हो गया है कि पूर्व डीजीपी की रिपोर्ट मिलने के बाद भी प्रदेश सरकार कई और अफसरों पर गाज गिराएगी।

aaj-ka-bharat-jat-aandolan-ke-dauran-hinsa-kotahi-baratane-ki-gaj-aphasaro-par-news-1उल्लेखनीय है कि आईजी श्रीकांत जाधव को सरकार ने जाट आंदोलन जारी रहते हुए ही ट्रांसफर कर दिया था, लेकिन उसके बाद आईजी जाधव के तेवरों से खफा सरकार ने आखिरकार उन्हें अनुशासनात्मक मामले में सस्पेंड करने का फैसला लिया। सस्पेंड किए गए दोनों डीएसपी पर भी यही आरोप है। सरकार ने तीनों अफसरों को ड्यूटी में कोताही बरतने का दोषी भी माना है।1997 बैच के आईपीएस संजय सिंह को रोहतक का नया आईजी नियुक्त किया गया है। श्रीकांत जाधव के तबादले के बाद से यह पद रिक्त था। वीरवार शाम प्रदेश सरकार ने संजय सिंह की नियुक्ति के आदेश जारी किए।इसके अलावा सरकार ने तुरंत प्रभाव से पुलिस महानिदेशक (कारागार) परमिंद्र राय को राज्य चौकसी ब्यूरो का महानिदेशक नियुक्त किया है। सरकार ने फरीदाबाद के एसीपी वीर सिंह को रोहतक का डीएसपी लगाया गया है, जबकि मेवात के डीएसपी विवेक चौधरी को भी रोहतक में डीएसपी नियुक्त किया है।

 

NEWS से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebookऔर Google+ पर ज्वॉइन करें…

Leave A Reply

Your email address will not be published.