The Amazing Facts

, / 441 0

स्मृति ईरानी को JNU छात्र का पत्र, लिखा- ‘मैं आपका बच्चा नहीं राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी हूं’

SHARE

smriti-irani-jnu-student-letter-hyderabad-central-university-news-hindi-aaj-ka-bharat

नई दिल्ली : जेएनयू के राजद्रोह के आरोपी छह छात्रों में से एक ने केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी(Smriti Irani) को लिखे एक खुले पत्र में कहा है कि वह बच्चा नहीं है बल्कि उनका राजनीतिक विरोधी है। संसद में स्मृति ने हैदराबाद विवि के दलित शोधार्थी रोहित वेमुला के लिए बच्चा शब्द का उपयोग किया था। रोहित ने संस्थान के छात्रावास में अपने कक्ष में फांसी लगा कर खुदकुशी कर ली थी।

‘मैं तो गुणवत्ता की अवधारणा को खारिज करता हूं’

अनंत प्रकाश ने खुले पत्र में कहा है- ‘मैंने संसद में दिया गया आपका भाषण सुना। मैं आपको यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि यह पत्र एक बच्चे की ओर से मां स्वरूप मंत्री को नहीं बल्कि एक राजनीतिक व्यक्ति की ओर से दूसरे राजनीतिक व्यक्ति को है। मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि मैं किसी व्यक्ति की गुणवत्ता को उसकी शैक्षिक योग्यता से नहीं आंकता। बल्कि मैं तो गुणवत्ता की अवधारणा को खारिज करता हूं।’ प्रकाश ने कहा कि मंत्री अपनी पहचान एक महिला के तौर पर बताती हैं लेकिन वह वेमुला की मां के साथ खड़ी होने में नाकाम रहीं।

‘…उम्मीद हैं इसके बाद आप बीजेपी छोड़ देंगी’

प्रकाश ने कहा- ‘वेमुला की मां एक दलित महिला हैं और पितृसत्तात्मक समाज में उन्होंने अपने बच्चों को बड़ा किया और उन्हें पहचान दी। लेकिन आपकी सरकार क्यों उनके बच्चों के साथ उनके पिता की पहचान जोड़ती है।‘ साथ ही प्रकाश ने स्मृति से मनुस्मृति पढ़ने को कहा और उम्मीद जताई कि एक महिला के तौर पर इसे पढ़ने के बाद वह बीजेपी छोड़ देंगी। उन्होंने कहा ‘आपने अपने भाषण में कहा है कि रोहित की हत्या को लेकर राजनीति हो रही है। लेकिन आप इतनी नौसिखिया नहीं हैं कि यह न समझ सकें कि उसकी जान भगवा राजनीति के कारण गई।’

NEWS से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें  Facebook और Google+ पर ज्वॉइन  करें…

Leave A Reply

Your email address will not be published.

PASSWORD RESET

LOG IN