The Amazing Facts

अलेक्जेंडर ग्राहम बेल की जीवनी | Alexander Graham Bell Biography in Hindi

SHARE
, / 455 1
Alexander Graham Bell Biography in Hindi
Alexander Graham Bell
नाम अलेक्जेंडर ग्राहम बेल
जन्म 3 मार्च, 1847
जन्मस्थान एडिन्बुर्ग, स्कॉटलैंड
पिता अलेक्जेंडर मेलविले बेल
माता एलिजा ग्रेस साइमंड्स बेल
पत्नी माबेल हब्बार्ड
पुत्र एडवर्ड बेल, रॉबर्ट बेल
पुत्री मैरियन हबर्ड बेल, एल्सी बेल
शिक्षा ग्रेजुएट
व्यवसाय आविष्कारक, वैज्ञानिक, प्रोफेसर
पुरस्कार जॉन फ्रिट्ज मेडल, इलियट क्रेसन मेडल
नागरिकता अमेरिका

 

वैज्ञानिक अलेक्जेंडर ग्राहम बेल (Alexander Graham Bell Biography in Hindi) :

अलेक्जेंडर ग्राहम बेल 19वी सदी में जन्मे एक स्कॉटिश वैज्ञानिक, अविष्कारक, इंजिनियर और प्रवर्तक थे। उन्हें लोग ज्यादातर टेलीफ़ोन के अविष्कार के लिए जानते हैं। हालाँकि उन्होंने इसके आलावा कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में कई और भी आविष्कार किए हैं। ऑप्टिकल-फाइबर सिस्टम, फोटोफोन, बेल और डेसिबॅल यूनिट, मेटल-डिटेक्टर आदि के आविष्कार का श्रेय भी उन्हें ही जाता है। Scientist Alexander Graham Bell

 

प्रारंभिक जीवन (Alexander Graham Bell Early Life) :

अलेक्जेंडर ग्राहम बेल का जन्म 3 मार्च, 1847 को स्कॉटलैंड के एडिनबर्घ में हुआ था। हालाँकि उनका पारिवारिक घर 16 साउथ शेर्लोट स्ट्रीट में था। उनके पिता प्रोफेसर एलेग्जेंडर मेलविल्ले बेल आवाज़ वैज्ञानिक थे। उनकी माता एलिजा ग्रेस थी, जो की गृहणी थी, और सुन भी नहीं सकती थी। ग्राहम के 2 भाई थे, मेलविल्ले जेम्स बेल और एडवर्ड चार्ल्स बेल। लेकिन इनकी बीमारी के चलते कम उम्र में ही मौत हो गई थी।

मात्र 12 साल की उम्र में बेल ने घर पर ही घुमने वाले दो कठोर पहियों को जोड़कर, एक ऐसी मशीन बनायी जिससे गेहू को आसानी से पिसा जा सकता था। उनकी इस मशीन का उपयोग कयी सालो तक होता रहा। बदले में बेन के पिता जॉन हेर्डमैन ने दोनों बच्चो को खोज करने के लिये एक वर्कशॉप भी उपलब्ध करवायी थी।

 

शिक्षा (Alexander Graham Bell Education) :

ग्राहम बेल ने प्रारंभिक शिक्षा घर पर ही अपने पिता से ही ग्रहण की थी। अल्पायु में ही उन्हें स्कॉटलैंड के एडिनबरा की रॉयल हाई स्कूल में डाला गया था और 15 साल की उम्र में उन्होंने वह स्कूल छोड़ दी थी। उस समय उन्होंने पढाई के केवल 4 प्रकार ही पुरे किये थे। उन्हें विज्ञान में बहुत रूचि थी, विशेषतः जीव विज्ञान में, जबकि दुसरे विषयो में वे ज्यादा ध्यान नही देते थे।

स्कूल छोड़ने के बाद बेल अपने दादाजी एलेग्जेंडर बेल के साथ रहने के लिये लन्दन चले गये थे। कॉलेज की पढाई के लिए ग्राहम ने पहले यूनिवर्सिटी ऑफ़ एडिन्बुर्ग में गए, इसके बाद लन्दन, इंग्लैंड की भी युनिवेर्सिटी गए लेकिन ग्राहम का यहाँ पढाई में मन नहीं लगा।

 

शादी (Alexander Graham Bell Marriage) :

अलेक्जेंडर ग्राहम बेल की शादी माबेल हब्बार्ड हुई। उन्हें 4 संतान हुई उनमे से 2 बेटी मैरियन हबर्ड बेल, एल्सी बेल और २ बेटे एडवर्ड बेल, रॉबर्ट बेल थे। Alexander Graham Bell Biography in Hindi

 

टेलीफोन का आविष्कार (Alexander Graham Bell Telephone Invention) :

कॉलेज में पढ़ाने के साथ साथ वे ‘हार्मोनिक टेलीग्राफ़’ पर रिसर्च कर रहे थे, उसे और बेहतर बनाने के लिए वे लगातार कड़ी मेहनत कर रहे थे। उन्होंने एक ही तार पर एक ही समय में एक साथ कई टेलीग्राफ सन्देश भेजे। इसके साथ ही इन्हें एक और विचार आया कि वे दुसरे तार पर मानव आवाज द्वारा सन्देश भेजें। 1874 में अलेक्जेंडर एक अच्छे इलेक्ट्रीशियन ‘थोमस वाटसन’ के साथ सहायक के रूप में कार्य करने लगे। ये अपने प्रोजेक्ट में लगने वाले यंत्र और उपकरणों का निर्माण करते थे।

10 मार्च, 1876 को ग्राहम ने दुनिया का पहला टेलीफोन कॉल किया। ग्राहम और वाटसन दो अलग अलग कमरों में काम कर रहे थे, तभी अचानक ग्राहम के उपर एसिड गिर जाता है और वे मदद के लिए वाटसन को बुलाते है। वाटसन ग्राहम के कमरे में पहुंचते ही बोलते है कि तार के द्वारा उनकी आवाज दुसरे कमरे में भी साफ साफ सुनाइ दे रही थी। ग्राहम ये सुनते ही एसिड की जलन को भूल जाते है और ख़ुशी से झूम उठते है।

इसके साथ ही दुनिया का पहला टेलीफोन कॉल सफल तरीके से हो पाया। इसके बाद वाटसन ने बेल के फ़ोनोंऑटोग्राफ में लगी धातु की एक नलिका को खिंचा। अचानक हुई इस घटना से यह भी पता चला की टेलीफोन से हम ध्वनि को भी स्थानांतरित कर सकते है। Alexander Graham Bell Biography in Hindi

हालाँकि उन्हें 1876 में जब इस अविष्कार को पेटेंट के लिए भेजा तो उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा। क्यूंकि उस समय इस अविष्कार के लिए एलिशा ग्रे भी कार्य कर रहे थे। एलिशा के अविष्कार के पेटेंट के सिर्फ 2 घंटे पहले ही ग्राहम का आवेदन गया था। लेकिन इसके बाद भी एलिशा ने ग्राहम के खिलाफ याचिका दर्ज करा दी थी, कि उन्होंने उनके अविष्कार को इस्तेमाल किया है। 

 

बेल टेलीफोन कंपनी का निर्माण (Alexander Graham Bell Found Bell Telephone Company) :

1877 में अमेरिका सुप्रीम कोर्ट ने ग्राहम के हक में फैसला दिया और इस तरह इस बड़े अविष्कार के रचियता बेल बन गए। इसके बाद ‘बेल टेलीफोन कंपनी’ का निर्माण किया गया। बेल को यूनाइटेड स्टेट पेटेंट ऑफिस पेटेंट नंबर मिला। इससे उनके विचारो को भी कॉपी नही कर सकता था और वे आसानी से टेलेग्राफी तरंगो से मशीन से आवाज को स्थानांतरित कर सकते थे।

उनकी कमाई का जरिया पढाना ही था क्योकि उस समय टेलीफोन उनके लिए ज्यादा लाभदायी नही था। बेल ने फोनोग्राफ, मेटल डिटेक्टर, मेटल जैकेट की भी खोज की और साथ ही ऑडियोमीटर की भी खोज की ताकि लोगो को सुनने में परेशानी ना हो, इसके बाद उनके नाम पर 18 पेटेंट दर्ज किये गए। उनके अविष्कारों को देखते हुए उन्हें बहुत से सम्मानों और पुरस्कारों से नवाजा भी गया था और आज भी उन्हें कयी पुरस्कार दिये जाते है।

 

पहला ट्रांस-अटलांटिक फ़ोन कॉल (Alexander Graham Bell First Trans-Atlantic Phone Call) :

25 जनवरी 1915 को बेल ने पहला ट्रांस-अटलांटिक फ़ोन कॉल लगाया। इसके बाद ग्राहम के सामने एक बड़ी चुनौती थी, वो यह कि कैसे ये अविष्कार अमेरिका के छोटे बड़े शहर गाँव तक पहुंचेगा। लेकिन इस महान वैज्ञानिक के लिए कुछ भी कहाँ नामुमकिन था, थोड़े ही समय में ग्राहम ने इसे पुरे अमेरिका में फ़ैलाने के लिए एक विशाल नेटवर्क का निर्माण किया।

पहली बार बेल ने उपमहाद्वीप के बाहर से भी वाटसन को कॉल लगाया। इस कॉल के 38 साल पहले, बेल और वाटसन ने फ़ोन पर बात की थी। लेकिन यह कॉल उस फ़ोन से काफी बेहतर था और आवाज भी साफ़ थी। Inventor Alexander Graham Bell

 

अलेक्जेंडर ग्राहम अवार्ड्स (Alexander Graham Bell Awards) :

  • 1880 में फ़्रांस सरकार द्वारा टेलीफोन के निर्माण के लिए वोल्टा प्राइज दिया गया था।
  • 1881 में फ़्रांस सरकार द्वारा ‘लीजन ऑफ़ हॉनर’ का सम्मान दिया गया।
  • 1902 में इंग्लैंड की ‘सोसाइटी ऑफ़ आर्ट ऑफ़ लन्दन’ द्वारा टेलीफोन के निर्माण के लिए ‘एल्बर्ट मैडल’ से सम्मानित किया गया।
  • 1907 में जॉन फ्रिट्ज मैडल दिया गया।
  • 1912 में एलियोट क्रिसन मैडल दिया गया।

 

मृत्यु (Alexander Graham Bell Death) :

अलेक्जेंडर ग्राहम बेल की 75 साल की उम्र में 2 अगस्त 1922 को नोवा स्कॉटिया में डायबिटीज की वजह से मृत्यु हुई थी। Alexander Graham Bell Biography in Hindi

_

कहानी से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें…

One Comment

Leave A Reply