The Amazing Facts

अमिश त्रिपाठी की जीवनी | Amish Tripathi Biography in Hindi

SHARE
, / 1098 0
Amish Tripathi Biography in Hindi
Amish Tripathi
नाम अमिश त्रिपाठी
जन्म 18 अक्टूबर, 1974
जन्मस्थान मुम्बई
पिता विनय कुमार त्रिपाठी
माता उषा त्रिपाठी
पत्नी प्रीति व्यास
पुत्र नील त्रिपाठी
शिक्षा आईआईएम कलकत्ता
व्यवसाय लेखक, उपन्यासकार
पुरस्कार सोसाइटी यंग एचीवर्स अवार्ड
नागरिकता/राष्ट्रीयता भारतीय

 

भारतीय लेखक अमिश त्रिपाठी (Amish Tripathi Biography in Hindi) :

अमिश त्रिपाठी एक भारतीय लेखक है, जो अपने प्रसिद्ध उपन्यास ‘दी इममोर्टल ऑफ़ मेलुहा’, दी ‘सीक्रेट ऑफ़ दी नागास’, ‘दी ओथ ऑफ़ दी वायुपुत्रा’, ‘स्कोन ऑफ़ इक्ष्वाकु एंड सीता: वारियर ऑफ़ मिथिला’ के लिए जाने जाते है। अपने अनूठे लेखन के चलते अमिष को फोर्ब्स ने उन्हें 2012 से 2015 तक अपनी शीर्ष 100 भारतीय हस्तियों की सूची में जगह दी है। Indian Author Amish Tripathi

 

प्रारंभिक जीवन (Amish Tripathi Early Life) :

अमिश त्रिपाठी का जन्म 18 अक्टूबर, 1974 को मुम्बई में हुआ और वह ओडिशा के राउरकेला में पले बढ़े। उनके पिता का नाम विनय कुमार त्रिपाठी था और उनकी माता का नाम उषा त्रिपाठी था। बचपन से ही अमिश इतिहासकार बनना चाहते थे, लेकिन उन्होंने समय की मांग को देखते हुए फाइनेंस में करियर बनाने का फैसला किया अमिश लेखन शुरू करने से पहले उन्होंने 14 साल तक फाइनेंशियल फील्ड में काम कियाइस दौरान उन्होंने स्टेंडर्ड चार्टर्ड, डीबीएस बैंक और आईडीबीआई फेडरल लाईफ इंश्योरेंस जैसी कम्पनियों को अपनी सेवाएं दीं।

 

शिक्षा और शादी (Amish Tripathi Education and Marriage) :

उन्होंने अपनी पढ़ाई मुम्बई के सेंट जेवियर्स कॉलेज से पूरी की और फिर आइआईएम कलकत्ता से अपनी पेशेवर डिग्री हासिल की। अमीश त्रिपाठी ने प्रीति व्यास से शादी कि। उनका एक बीटा भी है। जिनका नाम निल त्रिपाठी है। Amish Tripathi Biography in Hindi

 

करियर (Amish Tripathi Career) :

फरवरी 2010 में अमिश त्रिपाठी का पहला उपन्यास “इममोर्टल ऑफ़ मेलुहा” प्रकाशन किया गया और साथ ही भगवान शिव ट्राइलॉजी से जुडी हुई पहली किताब भी है। 12 अगस्त 2011 को इस सीरीज की दूसरी किताब ‘दी सीक्रेट ऑफ़ नागास’ का प्रकाशन किया गया और 27 फरवरी 2013 को सीरीज की तीसरी किताब ‘दी ओथ ऑफ़ वायुपुत्रा’ का प्रकाशन किया गया। उनकी इन किताबो में भगवान शिव के जीवन चरित्र और उनकी जीवन शैली के बारे में बताया गया है। Amish Tripathi Biography in Hindi

22 जून 2015 में ‘स्कोन ऑफ़ इक्ष्वाकु’ को रिलीज़ किया गया। राम चंद्र सीरीज की यह पहली किताब थी। यह किताब भी भारतीय महाकाव्य रामायण पर आधारित है। इस किताब में भगवान राम और सीता की कथा को बड़े ही रोचक तरीके से दर्शाया गया है। अमिश की प्रसिद्ध किताब ‘स्कोन ऑफ़ इक्ष्वाकु’ को बेस्ट पोपुलर अवार्ड की श्रेणी में क्रॉसवर्ड बुक अवार्ड दिया गया था।

18 अक्टूबर 2016 को अमिश त्रिपाठी ने 2017 में दो और नये उपन्यास रिलीज़ करने की घोषणा की है। जिनमे से ‘एक नॉन-फिक्शन’ कथा और दूसरी ‘स्कोन ऑफ़ इक्ष्वाकु का सीक्वल’ है। उनकी दूसरी किताब का नाम ‘सीता : वारियर ऑफ़ मिथिला’ है जिसे 29 मई 2017 में रिलीज़ किया गया।

 

अमीश त्रिपाठी की किताबें (Amish Tripathi Books List) :

  • इममोर्टल ऑफ़ मेलुहा (2010)
  • द सीक्रेट ऑफ़ द नागास (2011)
  • वायुपुत्रों की शपथ (2013)
  • स्केशन ऑफ इक्ष्वाकु (2015)
  • सीता: वॉरियर ऑफ़ ध मिथिला (2017)
  • रावण: एनेमी ऑफ़ आर्यवर्ता (2019)

 

पुरस्कार (Amish Tripathi Awards) :

  • सोसाइटी यंग एचीवर्स अवार्ड 2013
  • मैन ऑफ़ दी इयर 2013
  • ‘कम्यूनिकेटर ऑफ़ दी इयर अवार्ड, 2014
  • प्राइड ऑफ़ इंडिया 2014 और 2015
  • इंडियाज फर्स्ट लिटरेरी पॉपस्टार 2015
  • 50 सर्वाधिक प्रभावशाली युवा भारतीय
  • रेमंड क्रॉसवर्ड पॉपुलर चॉइस अवार्ड
  • रीडर्स चॉइस अवार्ड 2016
  • इंडियाज न्यू आइकॉन
  • सेलिब्रिटीज टॉप 100

_

कहानी से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें…

Leave A Reply