The Amazing Facts

, / 1159 0

इंद्रा नूयी की जीवनी | Indra Nooyi Biography in Hindi

SHARE
Indra Nooyi
Indra Nooyi
नाम     इंद्रा राज नूयी
जन्म         28 अक्टूबर 1955
जन्मस्थान चेन्नई, भारत
पिता          कृष्णमूर्ति
माता          शांता कृष्णमूर्ति
पतिराज नूयी
पुत्रीतारा नूयी, प्रीता नूयी
पुरस्कारपद्म भूषण
नागरिकताअमेरिकी, भारतीय

 

पेप्सिको के इंद्रा नूयी (Indra Nooyi Biography in Hindi) :

भारतीय मूल की इंद्रा कृष्णमूर्ति नूई एक अमेरिकन बिज़नेस वीमेन में मुख्य स्थान पर जानी जाती है, वह पेप्सिको कंपनी की चीफ एक्जेक्यूटिव ऑफिसर (CEO) और अध्यक्ष (Chairman) रह चुकी है। पेप्सिको कंपनी अमेरिका में ड्रिंक पदार्थ और खाद्य के बिज़नेस से जुडी हुई विश्व की सबसे बड़ी दूसरी कंपनी है। इंद्रा नूयी का नाम विश्व के 100 सबसे प्रभावी महिलाओ के साथ जुड़ा हुआ है। साल 2014 के लिस्ट में विश्व के 100 सबसे प्रभावी महिलाओ में उनको 13वा स्थान मिला था। Business Woman Indra Nooyi

 

प्रारंभिक जीवन (Indra Nooyi Early Life) :

इंद्रा नूईजी भारत में स्थित तमिलनाडु राज्य के खुबसूरत शहर चेन्नई में 28 अक्टूबर 1955 में एक तमिल बोलने वाले परिवार में हुआ था। उनके पिताजी का नाम कृष्णमूर्ति है। और उनके माताजी का नाम शांता कृष्णमूर्ति है। इंद्रा के पिता चेन्नई के स्टेट बैंक ऑफ़ हैदराबाद बैंक में कार्य करते थे और उनके दादाजी जिला के मुख्य न्यायाधीश के पद पर थे।

 

शिक्षा (Indra Nooyi Education) :

इंद्रा की शुरुआती पढाई चेन्नई के होली एंजिल्स एंग्लो इंडियन हायर सेकंडरी स्कूल में हुई थी। साल 1974 उन्होंने में चेन्नई की क्रिश्चियन कॉलेज से रसायन विज्ञान, गणित और भौतिकी विज्ञान में ग्रेजुएशन किया और कलकत्ता से उन्होंने मैनेजमेंट ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेटिव (MBA) में पोस्ट ग्रेजुएशन किया।

 

इंद्रा नूई की शादी (Indra Nooyi Married Life) :

25 साल की उम्र में इंद्रा नूई ने बिज़नेसमेन राज नूई से शादी कर ली। फ़िलहाल उनको दो बेटियाँ है, जिसमे बड़ी बेटी का नाम तारा नूयी और दूसरी बेटी का नाम प्रीता नूयी है। तारा नूयी हाल में येल यूनिवर्सिटी में मैनेजमेंट में पढ़ाई कर रही हैं। Indra Nooyi Biography in Hindi

 

बिजनेस करियर (Indra Nooyi Business Career) :

साल 1980 में इंद्रा ने जॉनसन एंड जॉनसन टेक्सटाइल कंपनी में बतौर प्रोडक्ट मेनेजर के पद पर अपना करियर भारत में ही शुरू किया। इसके बाद उन्होंने मोटोरोला कंपनी और एसिया ब्राउन बोवेरी कंपनी में मुख्य पदों पर भी कार्य किया।

इस नौकरी के समय उनको अमेरिका के कंपनी में काम करने की बहोत इच्छा थी। येल विश्वविद्यालय में स्नातक की डिग्री प्राप्त करने के बाद उन्होंने बोस्टन कन्सल्टिंग की एक पेढ़ी में कार्य करना शुरु किया। और इसके बाद टेक्सटाइल एंड कंज्यूमर गुड्स कंपनी में जुड़ गई।

साल 1986 से लेकर 1990 के समय मोटोरोला कंपनी में कॉरपोरेट स्ट्रेटजी के बतौर उपाध्यक्ष के पद पर कार्य किया और साथ में मोटोरोला के ऑटोमोटिव एंड इंडस्ट्रियल इलेक्ट्रॉनिक्स के डेवलप का उत्तरदायित्व संभाला।

 

पेप्सिको के CEO (Indra Nooyi As a CEO of Pepsico) :

साल 1994 में इंद्रा अमेरिका के प्रसिद्ध कंपनी पेप्सिको में जुड़ गई। इसके बाद साल 2001 में उनको पेप्सिको कंपनी के अध्यक्ष और चीफ फाइनेंस ऑफिसर (CFO) के पद पर नियुक्त किया गया। उनको पेप्सिको की उन्नति की मुख्य शिल्पकार कही जाती हैं। इस पद में उन्होने दस साल से भी ज्यादा समय तक पेप्सिको कंपनी की वैश्विक नीति का निरिक्षण किया।

इंद्रा ने पेप्सीको में पुनर्व्यवस्था का संचालन भी किया, जिसमे साल 1998 में ट्रोपिकाना का अधिग्रहण और साल 2001 में क्वेकर ओट्स कंपनी का विलय शामिल है। साल 2006 में इंद्रा नूई पेप्सिको कंपनी की चीफ एक्ज़ेक्युरीव ऑफिसर (CEO) बनीं। इस पद में नियुक्त होते ही वह पेप्सीको के 5वीं चीफ एक्ज़ेक्युरीव ऑफिसर बनी।

पेप्सिको के चीफ एक्ज़ेक्युरीव ऑफिसर बनने के बाद इंदिरा नूई की सभी बिज़नेस नीति में कामयाब रही। और इनकी यह सब रणनीतियों के चलते इस कंपनी को निवेशक भी बहोत मिले। इंद्रा नूयी बिज़नेस वीमेन नीता अंबानी और चंदा कोचर के समकक्ष गिनी जाती हे।

 

पुरस्कार और सम्मान (Indra Nooyi The Honors) :

  • 2007 में उन्हें भारत सरकार के सबसे बड़े तीसरे अवार्ड ‘पद्म भूषण’ देकर सम्मानित किया।
  • 2008 में फोर्ब्स ने उन्हें सबसे प्रभावशाली महिलाओं की सूची में 13वा स्थान दिया।
  • 2008 में उन्हें अमेरिका के अकादमी ने उन्हें फेलोशिप के लिए चुना।
  • 2008 में उन्हें अमेरिका और इंडिया बिज़नेस कौशल का अध्यक्ष चुना गया।
  • 2009 में फार्च्यून पत्रिका ने उन्हें ‘व्यवसाय में सबसे प्रभावशाली महिला’ की सूचि में पहला स्थान दिया।
  • 2009 में उन्हें लीडर्स ग्रुप ने ‘सीईओ ऑफ़ द इयर’ चुना गया।
  • 2009 में ब्रेंडन वुड्स इंटरनेशनल ने उन्हें ‘द टॉप गन सीईओ माना गया।
  • 2014 में उन्हें ‘व्यवसाय में विश्व की सबसे प्रभावशाली महिलाओं’ में तीसरे स्थान दिया।

_

 

Leave A Reply