The Amazing Facts

संजय दत्त की जीवनी | Sanjay Dutt Biography in Hindi

SHARE
, / 304 0
Sanjay Dutt Biography in Hindi
Sanjay Dutt
नाम संजय बलराज दत्त
जन्म 29 जुलाई 1959
जन्मस्थान मुंबई, महाराष्ट्र, भारत
पिता  स्वर्गीय सुनील दत्त
माता स्वर्गीय नर्गिस दत्त
पत्नीमान्याता दत्त
पुत्रशाहरन दत्त
पुत्रीत्रिशला दत्त, इकरा दत्त
व्यवसायफिल्म अभिनेता
पुरस्कारफिल्मफेयर अवार्ड्स
डेब्यू मूवीरॉकी (1981)
राष्ट्रीयता भारतीय

 

भारतीय अभिनेता संजय दत्त (Sanjay Dutt Biography in Hindi) :

संजय बलराज दत्त बॉलीवुड के सबसे प्रसिद्ध भारतीय अभिनेताओं में से एक हैं। एक अभिनेता के अलावा, वह एक प्रतिभाशाली निर्माता भी है। इनका नाता बॉलीवुड से खानदानी है इनके माता पिता भी  बहुत ही अच्छे अभिनेता और अभिनेत्री थे, जिनका नाम और काम आज तक याद किया जाता है। अपनी अभिनय के हुनर से इन्होने फिल्मी दुनिया में एक अलग पहचान बनाई है 1981 से अब तक इन्होने 100 से अधिक फिल्मो में अभिनय किया है। Indian Actor Sanjay Dutt

 

प्रारंभिक जीवन (Sanjay Dutt Early Life) :

संजय दत्त का जन्म 29 जुलाई 1959 को बॉलीवुड के एक समृद्ध परिवार में हुआ था। इनके पिता सुनील दत्त, एक प्रसिद्ध अभिनेता और राजनेता थे और इनकी मां नरगिस एक प्रसिद्ध अभिनेत्री थीं।

फिल्मी दुनिया में और प्रशंसकों द्वारा इन्हें प्यार से ‘संजू बाबा’, लंबू, हल्किंग अभिनेता के रूप जाना जाता है। परदे पर और असल जिन्दगी में भी लोग इनके व्यक्तित्व के प्रति आकर्षित होते है। संजय दत्त के लिए प्रसिद्ध अभिनेता बनने का सफर आसान नही था।

संजय दत्त के शुरूआती जीवन में कई दुःखी घटनाएं घटीं, कैंसर के कारण माँ का देहान्त हो जाने से संजय दत्त को गहरा सदमा लगा और युवावस्था में ही इन्होंने ड्रग्स लेना शुरू कर दिया। एक सुपरस्टार का बेटा होने के नाते इनपर काफी दबाव पड़ने लगा और फिर इन्होंने टेक्सास पुर्नवास किया। Sanjay Dutt Biography in Hindi

 

शिक्षा (Sanjay Dutt Education) :

संजय दत्त की आरंभिक शिक्षा द लॉरेंस स्कूल सनावर से हुई। सनावर हिमाचल प्रदेश में कसौली के पास है। इसके अलावा इनके आगे के एजुकेशन को लेकर या कॉलेज के संबंध में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है। इन्होंने बहुत कम उम्र से ही फिल्मों में काम स्टार्ट कर उसी में अपना फोकस किया।

 

बाल कलाकार के रूप में करियर (Sanjay Dutt As a Child Actor) :

इन्होंने अपने फिल्मी करियर कि शुरुआत एक बाल कलाकार के रूप में कि और इनकी प्रथम फिल्म रेशमा और शेरा थी।  इन्होने 1991 में फिल्म रॉकी में मुख्य अभिनेता के रूप में काम किया और बेहद लोकप्रियता हासिल की, इस फिल्म को दर्शको ने बेहद पसंद किया और यह फिल्म सफल हुई।

 

संजय दत्त निजी जिंदगी (Sanjay Dutt Personal Life) :

1987 में इन्होंने ने पहला विवाह अभिनेत्री ऋचा शर्मा से किया, लेकिन शादी के मात्र 9 सालो बाद ब्रेन ट्यूमर से इनकी मृत्यु हो गई। ऋचा और संजय की एक बेटी है जिसका नाम है त्रिशला, जो कि अपने ग्रैंड पेरेंट्स के साथ अमेरिका में रहती है।

1998 में माडल रिया पिल्लई के साथ संजय ने विवाह किया, पर किसी कारण वश इनका रिश्ता नही चल पाया और इन दोनों का तलाक हो गया।

इसके बाद संजय की मुलाकात मान्यता से हुई, दो साल तक ये दोनों मिलते जुलते रहे, फिर दोनों ने विवाह के बंधन में बंधने का फैसला लिया और गोआ जा कर शादी कर ली। 21 अक्टूबर  2010 को मान्यता दत्त ने दो जुड़वा बच्चों  को जन्म दिया जिनका नाम इकारा और शहरां रखा।

 

फिल्मी करियर (Sanjay Dutt Filmy Career) :

संजय दत्त ने हिट फिल्म रॉकी (1991) से अपनी बॉलीवुड की शुरुआत की थी, जिसका निर्माण और निर्देश उनके पिता सुनील दत्त ने किया था। पहली फिल्म में सफलता के बाद दूसरी फिल्म में इन्होंने नेगेटिव रोल किया, इस फिल्म का नाम खलनायक (1993) था। यह फिल्म बहुत बड़ी हिट साबित हुई और इस फिल्म के बाद संजय के करियर ने एक नई ऊचाई को छुआ।

बादमें संजय दत्त कई अन्य फिल्मों में दिखाई दिए, जिसमें विधाता (1982), नाम (1986) और हथियार (1989) जैसी फिल्में शामिल हैं। उनकी सफलता की भूमिका सुभाष घई के खलनायक (1993) में हुई, जिसके लिए उन्हें फिल्मफेयर अवॉर्ड नामांकन मिला।

संजय दत्त की सबसे सफल भूमिका है कि कॉमिक मुन्ना भाई, मुन्ना भाई एमबीबीएस और लगे रहो मुन्ना भाई। 1992 में, उन्हें फिल्म ‘साजन’ के लिए फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था और खल नायक जिसके लिए उन्होंने अपना दूसरा फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार नामांकन।

अपनी रिहाई के तीन हफ्ते पहले, उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और 1993 के मुंबई बम विस्फोट में शामिल होने का आरोप लगाया गया। दत्त को अगले चार सालों में अधिकांश के लिए कैद किया गया था, जबकि उस समय काम उनकी फिल्में समय-समय पर प्रदर्शित होना जारी रहता था। आखिर में 1997 के अंत में जमानत पर रिहा हो गए और निर्देशक राम गोपाल वर्मा की फिल्म दाउद में वो स्क्रीन पर लौट आए, लेकिन फ्लॉप हो गयी।

1999 को दत्त के वापसी के रूप में देखा गया था, क्योंकि उन्होंने महेश भट्ट की भूमिका निभाई थी, दाग: द फायर, हसिना मान जाएँगी और पुरस्कार जीतने वाली वास्तु के साथ अभिनय किया था, जिसके लिए उन्होंने अपना पहला फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार जीता था।

उन्होंने जोड़ी नंबर 1 (2001), पिटाह, कांटे (2002) और राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता ब्लॉकिस्टर मुन्ना भाई एमबीबीएस जैसी लोकप्रिय और महत्वपूर्ण सफलताओं में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिसने उन्हें कई पुरस्कार भी प्राप्त किये। बाद में मुसाफिर (2004), प्लान (2004), परिणीता (2005) और दस के साथ सफलताएं आयी। Sanjay Dutt Biography in Hindi

मुंबई की बमबारी के मुकदमे की शुरूआत के साथ-साथ, 2006 के अंत में रिलीज हुई लगे रहो मुन्ना भाई को दत्त की अदालत के साथ तब्दील कर दिया गया, जिसने उन्हें आतंकवाद से संबंधित कृत्यों का दोषी पाया, लेकिन 2006-2007 के बीच दो मौकों पर जेल में बंद कर दिया गया। थोड़े समय के लिए, जैसा कि वह शस्त्र अधिनियम के तहत दोषी पाया गया था, इसके बावजूद उन्होंने धमाल (2007), शूटआउट एट लोखंडवाला (2007), और ऑल द बेस्ट: मोन बेगिन्स (2009), डबल धमाल (2011) और अग्निपथ ने उन्हें एक बार फिर महत्वपूर्ण आलोचकों की प्रशंसा की।

वह अजय देवगन के सामने सन ऑफ़ सरदार में भी दिखाई दिए। 2007 में उन्हें मुन्नाभाई श्रृंखला में अपने काम के लिए भारतीय प्रधान मंत्री डा.मनमोहन सिंह से पुरस्कार मिला।

2013 को, सर्वोच्च न्यायालय ने 1993 के मुंबई विस्फोटों के मामले से संजय दत्त को अवैध हथियार के लिए दोषी ठहराया, और उसे 5 साल की कारावास की सजा सुनाई। इससे पहले, उसे टाडा अदालत ने 6 साल की कारावास की सजा सुनाई थी। Sanjay Dutt Biography in Hindi

 

बिग बॉस में एंट्री (Sanjay Dutt Entry in Big Boss) :

संजय दत्त ने फिल्म अभिनेता सलमान खान के साथ मिलकर बिग बॉस के 5 वें संस्करण की संयुक्त मेजबानी की थी। यह कार्यक्रम टेलीविजन के कलर्स चैनल पर प्रसारित किया गया था। बाद में सलमान खान ने खुद बताया की मैंने संजय दत्त को इस शो के लिये राजी किया था। 

 

संजय दत्त सुपरहिट फिल्म (Sanjay Dutt Movie List) :     

  • रॉकी (1981)
  • नाम (1986)
  • साजन (1991)
  • सड़क (1991)
  • गुमराह (1993)
  • खलनायक (1993)
  • दुश्मन (1998)
  • वास्तव द रियलिटी (1999)
  • हसीना मान जाएगी (1999) 
  • कुरुक्षेत्र (2000)
  • मिशन कश्मीर (2000)
  • जोड़ी नम्बर 1 (2001)
  • कांटे (2002)
  • मुन्ना भाई एमबीबीएस (2003)
  • दीवार (2004)
  • परीणिता (2005)
  • लगे रहो मुन्ना भाई (2006)
  • शूट आउट अत्र लोखंडवाला (2007)
  • धमाल (2007)
  • अग्निपथ (2012)
  • जिला गाजियाबाद (2013)
  • पीके (2014)
  • संजू (2018)
  • पानीपत (2019)
  • कलंक (2019)

 

पुरस्कार (Sanjay Dutt Awards) :

  • 2000 में स्टार स्क्रीन अवार्ड्स
  • 2000 में फिल्म फेयर अवार्ड
  • 2001 में स्टार स्क्रीन अवार्ड्स
  • 2003 में बॉलीवुड मूवी अवार्ड
  • 2004 में बॉलीवुड मूवी अवार्ड
  • 2004 में फिल्म फेयर अवार्ड
  • 2006 में ग्लोबल इंडियन फिल्म अवार्ड
  • 2007 में स्टार डस्ट अवार्ड्स
  • 2010 में इंटरनेशनल इंडियन फिल्म एकेडमी अवार्ड
  • 2013 में स्टार डस्ट अवार्ड्स

 

संजय दत्त के विवाद (Sanjay Dutt Dispute) :

  • 1982 में अवैध ड्रग्स रखने के आरोप में उन्हें पांच महीने की कैद हुई थी।
  • 1993 के मुंबई सीरियल धमाकों के दौरान, उसे अवैध हथियार (एके -56) रखने के लिए टाडा (आतंकवादी और विघटनकारी गतिविधि अधिनियम) के तहत गिरफ्तार किया गया था।
  • हालांकि वह अक्टूबर 1995 में जेल से रिहा हो गया था, फिर भी उसे दिसंबर 1995 में पुलिस ने फिर से गिरफ्तार कर लिया। 
  • 31 जुलाई 2007 को, टाडा कोर्ट ने उन्हें मुंबई विस्फोट के आरोपों को मंजूरी दे दी, लेकिन उन्हें अवैध हथियार रखने के लिए 6 साल के कारावास की सजा सुनाई।
  • 20 अगस्त 2007 को उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया, लेकिन 22 अक्टूबर 2007 को उन्हें फिर से जेल भेज दिया गया। आखिरकार 27 नवंबर 2007 को सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी। 
  • 21 मार्च 2013 को, भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने टाडा के फैसले की समीक्षा करने के बाद, उसकी सजा को छह साल से घटाकर पांच साल कैद की सजा दी।
  • 2002 में, संजय दत्त और छोटा शकील के बीच बातचीत का एक ऑडियो बॉलीवुड पर छा गया।

_

कहानी से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें…

Leave A Reply