The Amazing Facts

वीरेंदर सहवाग की जीवनी | Virender Sehwag Biography in Hindi

SHARE
, / 704 0
Virender Sehwag
Virender Sehwag
नाम  वीरेंदर सहवाग
जन्म  20 अक्टूबर 1978
जन्मस्थान हरियाणा
पिताकिशन सहवाग
माताकृष्णा सहवाग
पत्नीआरती अहलावत
पुत्रआर्यवीर, वेदांत
व्यवसायक्रिकेटर
बेटिंग स्टाइलराईट-हैण्ड बेट्समेन
पुरस्कार विश्व में विजडन लीडिंग क्रिकेटर, पद्म श्री
नागरिकताभारतीय
Instagramhttps://www.instagram.com/virendersehwag/?hl=en

 

भारतीय क्रिकेटर वीरेंदर सहवाग (Virender Sehwag Biography in Hindi) : 

वीरेंदर सहवाग भूतपूर्व भारतीय क्रिकेटर है, जिन्हें विश्व क्रिकेट का सबसे विस्फोटक बल्लेबाज माना जाता है। टीम इंडिया को बल्लेबाजी में तूफानी शुरुआत देने वाले वीरेन्द्र सहवाग भले ही आज टीम इंडिया में मौजूद न हो। लेकिन वीरेन्द्र सहवाग ने अपने क्रिकेट दौर में एक ऐसी पहचान बनाई जिसे आज भी हर क्रिकेट फैन याद करता है। वो भारत के सलामी बल्लेबाज और आक्रामक ओपनर रहे हैं। प्यार से लोग उन्हें वीरू पुकारते हैं। Indian Cricketer Virender Sehwag

 

प्रारंभिक जीवन शिक्षा (Virender Sehwag Early Life) :

वीरेंदर सहवाग का जन्म 20 अक्टूबर 1978 मे हरियाणा के एक संपन्न तथा सयुंक्त परिवार मे हुआ था। इनके पिता का अनाज का व्यापार था तथा माता ग्रहणी थी घर मे इनसे बड़ी इनकी दो बहने तथा एक छोटा भाई था व ये तीसरे नंबर के पुत्र थे। उनके पिता ने बचपन में ही सहवाग की क्रिकेट के प्रति रूचि को भाँप लिया था और सात महीनो के सहवाग को ही उन्होंने खिलौने वाली बैट लाकर दी थी। 

 

शिक्षा (Virender Sehwag Education) :

इनकी प्रारंभिक शिक्षा अरोरा विध्या स्कूल, दिल्ली तथा जामिया मिलिया इस्मलिया कालेज, न्यू दिल्ली से ग्रेजुएशन हुआ है। Virender Sehwag Biography in Hindi

बाद में सहवाग पढने के लिए नयी दिल्ली के अरोरा विद्या स्कूल जाने लगे और सहवाग अपने माता-पिता को हमेशा क्रिकेट खेलने के लिए सताया करते थे। इसी आधार पर उन्होंने अपने क्रिकेट करियर के शुरुवाती दौर में अपनी पहचान एक आक्रामक बल्लेबाज के रूप में बनायी और उस समय उनके कोच अमर नाथ शर्मा थे।

 

विवाह (Virender Sehwag Marriage) :

वीरेंदर सहवाग का विवाह 2004 में आरती अहलावत से हुआ। इनके दो बेटे है आर्यवीर और वेदांत।

 

शुरुआती करियर (Virender Sehwag Starting Career) :

सहवाग ने सबसे पहले 1997-1998 मे दिल्ली क्रिकेट में शामिल होकर अपने करियर की शुरुवात की। 1998 मे इनका सिलेक्शन डुलेप ट्राफी के लिये नॉर्थ जोन क्रिकेट टीम से हुआ, तब इनका नाम कुल रनिंग लिस्ट मे पांचवे स्थान पर था। कड़ी मेहनत के बाद अगले साल इनका नाम रनिंग लिस्ट मे चौथे स्थान पर आ गया, जिसमे इन्होंने 274 का स्कोर किया।

इसके बाद पंजाब के खिलाफ साऊथ जोन मे अगरतला मे 327 बाल्स मे 175 रनों मे रणजी ट्राफी खेला। इसके बाद उनका चयन अंडर-19 टीममें किया गया, जोकि साऊथ अफ़्रीका के खिलाफ खेला गया।

 

वीरेंदर सहवाग का ODI करियर (Virender Sehwag ODI Career) :

1999 मे इनका पहला बड़ा मैच था जोकि पाकिस्तान के खिलाफ खेला गया था। इसमे यह एक रन बना कर आउट हो गये थे जिसमे शोएब अख्तर ने इन्हें एलबीडब्ल्यू मे रन आउट किया था। इसी मैच मे उनका बोलिंग का परफोरमेंस भी बहुत ही खराब था, जिसमे तीन ओवर मे पैतीस रन दिये थे। इसी वहज से इन्हें लगभग बीस महीने तक राष्ट्रीय टीम मे खेलने का मौका नही मिला।

2001 मे बहुत मेहनत की और यह तब दिखा जब बेंगलौर मे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच खेल कर 54 गेंद मे 58 रन बनाये तथा पहला मेन ऑफ दी मैच का पुरुस्कार हासिल किया। तब यह राष्ट्रीय टीम के सदस्य के रूप में चुने गये, यहाँ से उनके असली करियर की शुरुवात हुई, जिससे उन्होंने अन्तराष्ट्रीय खेलो मे अपनी भागीदारी दर्ज करी।

उन्होंने 2001 मे श्रीलंका मे अपनी सफलता का परचम लहराया जब उन्हे ट्री-सीरीज मे न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच के लिये चुना गया था। Virender Sehwag Biography in Hindi

जनवरी 2002 मे क्रिकेटर सौरभ गांगुलीको चोट आने के कारण इनको एक और मौका मिला जिसमे कानपुर मे इंग्लैंड के खिलाफ चौसठ गेंद मे बयासी रन बना कर एक अच्छी बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया। 

ODI मे दस मैचों मे पचास से अधिक रन का पहला स्कोर रहता था जिसके लिये उन्हें मेन ऑफ दी मैच दिया गया। किसी भी मैच के दौरान सचिन और सहवाग की साझेदारी सबसे अच्छी मानी जाती थी। लगातार उम्दा प्रदर्शन के बाद उन्हें ODI में नियमित खिलाडी के रूप मे चुना गया।

उन्होंने 2003 मे क्रिकेट वर्ल्ड कप खेला जिसमे इन्होंने 299 रन बनाये। इसी मैच के दौरान इन्होने फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेल कर 82 रन बनाये परंतु इसमे इंडिया हार गई।

2003 मे हैदराबाद मे न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच खेला जिसमे सचिन और उनकी साझेदारी रही, जिसमे 130 रन बना कर 182 रन की पारी खेली तथा चौथी शतक बनाई।

2004 के ODI में 3 एमओएम अवार्ड जीते जोकि श्रीलंका, पाकिस्तान,और बांग्लादेश के खिलाफ खेले गये थे। इनका सबसे अच्छा प्रदर्शन कोच्ची मे रहा जब इन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ खेला उसमे 95 बोल मे 108 रन बनाकर शानदार जीत हासिल की।

2006 मे कन्धे पर चोट लगने के कारण पाकिस्तान में ओडीआई में दो साल ठीक से खेल नही पाए जिससे उनका स्कोर बोर्ड उसका ग्राफ नीचे चला गया और ओडीआई मे काफी पीछे हो गये।

जिसके चलते 2007 वर्ल्डकप में इनको लेने से इंकार कर दिया गया। तब कप्तान राहुल द्रविड़ने इन पर विश्वास दिखाते हुए इनको टीम मे शामिल किया पर सहवाग उसमे नाकामियाब रहे तथा पहले ग्रुप मे इनका प्रदर्शन खराब रहा। पर इसके बाद उन्होंने अपनी शानदार वापसी 87 मे 114 रन बना करी थी। इसी के साथ इंडियन टीम ने वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन बनाये जो कि टुर्नामेंट मे इनकी एक मात्र जीत थी।

2009 मे ODI  मे न्यूजीलैंड के खिलाफ सबसे तेज शतक बनाया, जो कि 60 गेंदों पर लगाया था। यह न्यूजीलैंड के खिलाफ फर्स्ट सीरीज थी जिसमे उन्होंने इंडिया का नेतृत्व किया था,

2011 में इंदौर में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेल कर अबतक के सारे रिकार्ड तोड़ दिये। इस मैच में सहवाग ने 149 गेंदों में 219 रन बनाये तथा ODI क्रिकेट मे आठ हजार रन का रिकार्ड पार किया।

आईसीसी चैम्पियन ट्रॉफी मे 271 रन बनाये जिसमे इनको दो बार मेन ऑफ दी मैच मिला। यहाँ गांगुली के साथ उनकी साझेदारी रही, जिसमे 104 गेंदों मे 126 रन बनाये तथा 8 विकेट से इंग्लेंड के खिलाफ जीत दर्ज कराई।

इसके साथ राजकोट में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलकर 9 विकेट से जीत दर्ज करायी। सबसे बड़ी बात यह थी कि न्यूजीलैंड ODI सीरीज मे सात मैचों मे शतक लगाने वाले एक मात्र बल्लेबाज थे।

 

ODI रिकार्ड (Virender Sehwag ODI Records) :

  • इनिंग्स – 245
  • रन – 8273
  • औसत – 35.06
  • हाईएस्ट रन – 219
  • शतक – 16
  • अर्द्धशतक – 37
  • सिक्स – 135
  • विकेट्स – 96

 

टेस्ट मैच का करियर (Virender Sehwag Test Career) :

इन्होंने साल 2001 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहला टेस्ट मैच खेला तथा 105 रन बनाये। 2002 में इंग्लैंड और जिम्बाब्वे के खिलाफ होम सीरीज़ खेली तथा 84 रन बनाये, तथा दूसरे टेस्ट मैच मे शतक बनाया। Virender Sehwag Biography in Hindi

2003 में फर्स्ट होम सीरीज खेली जो कि वेस्टइंडीज के खिलाफ थी, जिसमे इन्होंने 147 रन बनाकर एक शतक बनाई। जिसके लिये इनको टॉप स्कोर बनाने का ख़िताब मिला। इसी के साथ 2003 में मोहाली में न्यूजीलैंड के खिलाफ 130 रन बनाये। 

2004 के प्रारंभ मे मुल्तान मे पाकिस्तान के खिलाफ 309 रन बना कर पिछले सारे रिकार्ड को तोड़ दिये। उनका यह 21 टेस्ट मैच था, जिसमे इनकी छटवी शतक थी। इसके बाद लाहौर में अलगे टेस्ट मैच में 90 रन बना कर मेन ऑफ दी मैच का खिताब जीता। 

2005 में होम सीरीज के दौरान इन्होने क्रमशः माहोली मे 173 रन, कोलकाता मे 81 रन, बंगलोर मे 201 रन बनाए। जिसके लिये मेन ऑफ दी सीरीज का अवार्ड मिला। इन्होंने पारी में सबसे तेज रन बनाकर ICC टेस्ट टीम आफ दी इयर का ख़िताब मिला जिसके कारण उनका नाम टेस्ट प्लेयर के रूप में चुना गया।

2006 में लाहौर में पाकिस्तान के खिलाफ खेला गया, जिसमे 254 रन बनाये तथा सबसे ज्यादा टेस्ट रन बना कर डबल सेंचुरी बनाई। 2007 में अच्छा ना खेलने की वजह से कुछ समय इनको कुछ खेलो से बहार रखा गया जिसके बाद यह लगातार मेहनत करते रहे।

2008 में फिर से होम सीरीज मे इन्होंने वापसी की तथा साउथ अफ्रीका के खिलाफ अच्छा मैच खेला। चिदंबरम स्टेडियम में इन्होंने पहले टेस्ट मे 319 रन बनाये जिसमे 278 बाल्स मे 300 बनाकर टेस्ट मैच मे सबसे तेज ट्रिपल शतक बनाने का इतिहास रचा। तीसरे दिन उन्होंने दो 257 रन बनाये जिसमे कई सालो का रिकार्ड तोडा गया। 

टेस्ट क्रिकेट में 2 बार 300 के आकडे को छूने वाले विश्व के मात्रा चार खिलाडियों में से वे एक है। और साथ ही टेस्ट में दो तिहरे शतक और एक पारी में पाँच विकेट लेने वाले वे एकमात्र खिलाडी है।

2008 में घरेलु मैदान में वापिस आने के बाद, जब अनिल कुंबले ने रिटायरमेंट ले लिया तब सहवाग की नियुक्ती टेस्ट और एकदिवसीय दोनों श्रेणियों में उपकप्तान के रूप में की गयी थी। 

 

टेस्ट मैच रिकार्डस (Virender Sehwag Test Records) :

  • इनिंग्स – 180
  • रन – 8586
  • औसत – 49.34
  • हाईएस्ट रन – 319
  • शतक – 23
  • अर्द्धशतक – 32
  • सिक्स – 91
  • विकेट्स – 40

 

T20 में रिकार्डस (Virender Sehwag T20 Records) :

  • इनिंग्स – 19
  • रन – 394
  • औसत – 21.89
  • हाईएस्ट रन – 68
  • अर्द्धशतक – 2
  • सिक्स – 16
  • विकेट्स – 0

 

आईपीएल करियर (Virender Sehwag IPL Career) :

  • इनिंग्स – 104
  • रन – 2728
  • औसत – 27.26
  • हाईएस्ट रन – 122
  • शतक – 2
  • अर्द्धशतक – 16
  • सिक्स – 106
  • विकेट्स – 6

 

अवार्ड्स (Virendra Sehwag Awards) :

  • 2002 मे अर्जुन अवार्ड मिला था। 
  • 2008 मे वेस्डन लीडिंग क्रिकेटर इन दी वर्ल्ड मिला था। 
  • 2010 में आईसीसी टेस्ट प्लेयर ऑफ दी ईयर अवार्ड मिला था। 
  • 2010 में पदमश्री अवार्ड मिला था। 

_

कहानी से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें…

Leave A Reply