The Amazing Facts

आरती साहा की जीवनी | Arati Saha Biography in Hindi

SHARE
, / 2609 0
Arati Saha Biography in Hindi
Arati Saha
नाम आरती साहा
जन्म 24 सितम्बर 1940
जन्मस्थान कोलकता, बंगाल, ब्रिटिश भारत
पिता पंचगोपाल साहू
व्यवसाय तैराक
पुरस्कार पद्म श्री
नागरिकताभारतीय

 

इंग्लिश चैनल पार करने वाली पहली तैराक महिला आरती साहा (Arati Saha Biography in Hindi) :

आरती साहा भारत की सबसे लंबी दूरी तय करने वाली तैराक है। आरती 1959 में इंग्लिश चैनल पार करने वाली एशिया की प्रथम महिला है। इसके अलावा ये पहली भारतीय महिला खिलाड़ी भी है जिन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया है। इनकी उपलब्धि से तो हम सब परिचित है। First Female Swimmer Aarti Saha

 

प्रारंभिक जीवन (Arati Saha Early Life) :

आरती साहा का जन्म 24 सितम्बर, 1940 को कोलकाता, पश्चिम बंगाल में हुआ था। उनके पिता का नाम पंचुगोपाल साहा था। वे एक साधारण बंगाली हिन्दू परिवार से सम्बंध रखते था। आरती अपने पिता की तीन संतानों में दूसरी और दो बहन थीं। उनके पिता सशस्त्र बल में एक साधारण कर्मचारी थे। जब आरती ढाई साल की थीं, तभी उनकी माता का देहान्त हो गया। आरती अपनी दादी के पास रहीं।

जब वह चार वर्ष की थी, तब वह अपने चाचा के साथ को चंपताला घाट पर जाती और वही उन्होंने तैरना सीख लीया था। उनकी रूचि देखते हुए उनके चाचा ने उन्हें Hatkhola स्विमिंग क्लब में भर्ती किया। 1946 में, पांच वर्ष की आयु में, शैलेंद्र मेमोरियल तैराकी प्रतियोगिता में 110 स्वर्ण गगन के फ्रीस्टाइल में उन्होंने स्वर्ण जीता।

 

शिक्षा और शादी (Arati Saha Education) :

आरती साहाने अपनी शुरुआती शिक्षा अपने गृहनगर कोलकाता से हासिल की। बाद में आरती ने इंटरमीडिएट की पढाई सिटी कॉलेज से पूरी की। आरती साहा के पति का नाम डॉ अरुण कुमार है। 1959 में आरती ने डॉ अरुण कुमार से शादी की और इनकी एक संतान है जिसका नाम अर्चना है। Arati Saha Marriage

 

करियर (Arati Saha Career):

सचिन नाग ने उनकी इस प्रतिभा को पहचाना और उसे तराशने का कार्य शुरु किया। 1949 में आरती ने अखिल भारतीय रिकार्ड सहित राज्यस्तरीय तैराकी प्रतियोगिताओं को जीता। उन्होंने 1952 में हेलसिंकी ओलंपिक में भी भाग लिया।

भारतीय पुरुष तैराक मिहिर सेन से प्रेरित होकर उन्होंने इंग्लिश चैनल पार करने की कोशिश की और 29 सितम्बर 1959 को वे एशिया से ऐसा करने वाली प्रथम महिला तैराक बन गईं। Arati Saha is First Asian Woman To Swim Across The English Channel

उन्होंने 42 मील की दूरी 16 घंटे 20 मिनट में तैय की। इंग्लैंड के तट पर पहुंचने पर, उन्होंने भारतीय ध्वज फहराया विजया लक्ष्मी पंडित उसे बधाई देने वाले पहले व्यक्ति थे। जवाहर लाल नेहरू और कई प्रतिष्ठित लोगों ने व्यक्तिगत तौर पर उन्हें बधाई दी और 30 सितंबर को ऑल इंडिया रेडियो ने आरती साहा की उपलब्धि की घोषणा की।

 

पुरस्कार (Arati Saha Awards) :

  • 1960 में आरती साहा को पद्मश्री से सम्मानित किया गया।
  • 1998 में भारतीय डाक विभाग द्वारा कई क्षेत्रों में महत्वपूर्ण उपलब्धियाँ हासिल करने वाली भारतीय महिलाओं की स्मृति में जारी डाक टिकटों के समूह में आरती शाहा पर भी एक टिकट जारी किया गया था। 

मृत्यु (Arati Saha Death) :

आरती साहा को पीलिया  होने के कारण 23 अगस्त 1994 को उनकी मृत्यु हो गई थी। Arati Saha Biography in Hindi

_

कहानी से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें…

Leave A Reply