The Amazing Facts

मोटापा घटाने के लिए घरेलु उपाय | Home Remedy for Lose Obesity

SHARE
, / 78 0
Lose Obesity

 

मोटापा घटाने के लिए घरेलु उपाय (Home Remedy for Lose Obesity)

125 ग्राम पानी उबालकर ठण्डा करें जब गुनगुना रह जाय तब उसमें 15 ग्राम नींबू का रस और 15 ग्राम (दो चम्मच) शहद मिलाकर शर्बत के समान गड मड करके पीने से मोटापा दूर होता है। शरीर में चाहे कैसी भी चर्बी बढ़ गई हो, घटकर शरीर सुडौल बन जाता है। पेट के रोग दूर होकर जठराग्नि तेज बनी रहती है। प्रातः खाली पेट निरन्तर एक दो मास लें।

सहायक योगासन और कसरत (Supportive Yoga and Exercise for Lose Obesity) :

मोटापा घटाने में सहायक योगासन और कसरत क्रियाएँ नित्य प्रातः करें तो लाभ द्रुत गति से होता है। योगासनों में उत्तानपादासन, पश्चिमोत्तानासन, भुजंगासन, धनुरासन, त्रिकोणासन, नौली क्रिया मोटापा कम करने में अत्यन्त प्रभावशाली है।

सहायक भोजन (Supportive Foods for Lose Obesity) :

  • ( 1 ) भोजन हल्का और दिन में एक बार करें, चौकर की रोटी खाना लाभप्रद है। हरी सब्जियों का विशेष रूप से सेवन करें। भोजन के साथ जल न लें। भोजन के एक घंटे बाद थोड़ा जल पीएँ। चाय, कॉफी, चरबी बढ़ाने वाले और मीठे पदार्थों का सेवन यथासम्भव कम कर दें।
  • ( 2 ) जहाँ शहद के साथ नींबू पानी के सेवन से मोटापा घटता है वहाँ केवल नींबू पानी के सेवन से मोटापा बढ़ता है।

विकल्प :

दोनों समय भोजन के तुरन्त बाद एक कप उबलता हुआ गर्म पानी लें और जितना गर्म पिया जा सके चाय की भाँति छोटे – छोटे चूंट और चम्मच की सहायता से धीरे धीरे पी लें। इस प्रकार खाने के तुरन्त बाद गर्म पानी के लगातार सेवन करने से मोटापा घटकर शरीर संतुलित हो जाता है। परन्तु गर्म पानी का यह प्रयोग लगातार दो महीनों से अधिक नहीं करना चाहिए।

सर्दियों में इस प्रयोग को उचित परहेज के साथ आवश्यकतानुसार 15 दिन से 2 मास तक करने से मोटापा के अतिरिक्त गैस, कब्ज, आंतों की सूजन, कृमि आदि रोग भी निर्मूल हो जाते हैं।

  • ( 1 ) इससे महिलाओ को प्रसव के बाद बढ़ा हुआ पेट ठीक होकर सुगठित हो जाता है।
  • ( 2 ) मोटे रोगियों, गठिया तथा जोड़ों के दर्द और सूजन के लिए गर्म पानी का सेवन बहुत लाभप्रद है।
  • ( 3 ) इससे मूत्र अधिक मात्रा में आकर शरीर से यूरिक एसिड और विषैले अंश निकल जाते हैं। Home Remedy for Lose Obesity
  • ( 4 ) अधिक गैस पैदा होना बन्द होता है। अजीर्ण और पेट फूलना बन्द होता है।
  • ( 5 ) कब्ज नहीं रहती, पाखाना खुलकर आता है, मल आंतों में नहीं सड़ता।
  • ( 6 ) पेट में कीड़ों की उत्पत्ति नहीं होती।
  • ( 7 ) आमाशय और आंतों की कमजोरी, पेट फूलना, आमाशय की सूजन, पेचिश आदि बीमारियाँ नष्ट होती हैं।
  • ( 8 ) यकृत को शक्ति प्राप्त होती है।
  • ( 9 ) औरतों की मासिक धर्म की अनियमितता दूर होती है।
  • ( 10 ) आँखों के नीचे काले घेरे और चेहरे का भद्दापन दूर होकर रंग निखरता है। कमर सुन्दर बनती है। 

_

जानिए कमर दर्द के लिए घरेलु उपाय

_

कहानी से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें…